white discharge treatment at homewhite discharge treatment at home

ल्यूकोरिआ के घरेलु और प्राकृतिक उपाय (White discharge treatment at home)

पिछले आर्टिकल में हमने बताया था, ल्यूकोरिया क्या है, इसके लक्षण और कारण क्या हैं। इस आर्टिकल में हम बात करेंगे ल्यूकोरिया के उपचार (white discharge treatment at home) के बारे में। ल्यूकोरिया (white discharge) की समस्या में क्या खाना चाहिए और क्या सावधानी बरतनी चाहिए। इसके घरेलु और आयुर्वेदिक उपचार क्या हैं , और योग ल्यूकोरिया की समस्या में कैसे मदद कर सकता है। अगर आप ल्यूकोरिआ का घरेलु उपचार चाहते हैं तो आयुर्वेद के अनुसार बताए गए  ल्यूकोरिआ के कुछ घरेलु उपाय निम्न है…..

आंवला खाए भरपुर, ल्यूकोरिआ करे दूर (Amla in Leucorrhea Treatment)

आंवला (amla) का सेवन कुछ इस तरह करे, पहले आंवला का चूर्ण तैयार कर ले। रोजाना खाली पेट एक चम्मच चूर्ण का सेवन हल्के गुनगुने पानी के साथ करें। आंवला का एंटी-ऑक्सीडेंट गुण (Antioxidant properties) ल्यूकोरिआ के मरीज के लिए बहुत फायदेमंद होता है। आंवला में विटामिन-सी (Vitamin-C) के साथ ही विटामिन-ए, विटामिन-बी, कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट और फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

Amla Leukorrhea Treatment

केले से करे ल्यूकोरिआ दूर ( Banana in Leucorrhea Treatment)

पके हुए केले का पेस्ट बनाकर उसमें थोड़ा शक्कर (Sugar)  मिलाकर सुबह नाश्ते से पहले उसका सेवन करें, और पेस्ट में दही या मक्खन मिलाकर दोपहर के भोजन से आधे घंटे पहले इसका सेवन करे, और साथ ही केले को बीच से काटकर उसमे एक ग्राम कच्ची फिटकरी (alum) का पाउडर मिलाकर उसका भी सेवन शाम के समय करे। ऐसा एक हफ्ते तक करने से सफ़ेद पानी और ल्यूकोरिआ के अन्य समस्या (Vaginal discharge) से आराम मिलता है।

Leukorrhea treatment in Ayurveda

अमरूद और त्रिफला चूर्ण से ल्यूकोरिआ करें दूर (Leucorrhea treatment tips)

आइये जानते हैं अमरूद (Guava) और त्रिफला चूर्ण (Triphala Churna) का प्रयोग कैसे करना है। अमरूद के चार से पाच पत्तो को एक लीटर पानी में तब तक उबाले जब तक पानी आधा लीटर न हो जाए, जब पानी हल्का गरम रह जाए तो इसका प्रयोग  योनि (Vagina) के प्रभावित हिस्से को साफ़ करने के लिए करें। ऐसे ही चार चम्मच त्रिफला चूर्ण को दो से तीन लीटर पानी में रात भर के लिए भिगो दे, फिर सुबह उसी पानी को हल्का गुनगुना गरम कर उसका प्रयोग  योनि (Vagina) के प्रभावित हिस्से पर साफ़ कपडे से साफ़ करने के लिए करें।

नीम के प्रयोग से ल्यूकोरिआ ख़त्म करे (Neem in Leukorrhea Treatment)

नीम आसानी से उपलब्ध हो जाता है, और इसके फायदे भी बहुत है। नीम का सेवन कुछ इस तरह किया जा सकता है। सबसे पहले नीम के छाल को पीसकर उसका पाउडर बना ले। अब इसमें शहद (Honey) मिलाकर दिन में दो से तीन बार इसका सेवन करे। ऐसा करने से आपको ल्यूकोरिआ की समस्या (Leucorrhea discharge) से राहत मिलेगी।

ल्यूकोरिआ के कुछ अन्य उपाय (Leucorrhea treatment tips)

आयुर्वेद में ल्यूकोरिआ के अचूक और लाभकारी घरेलु उपाय (white discharge treatment at home) बताये गए हैं, साथ ही कुछ सावधानियां बरतने की भी जरूरत है। आइये जानते हैं ल्यूकोरिआ के इलाज के समय क्या करना हk

ल्यूकोरिआ की आयुर्वेदिक दवा (Leukorrhea Treatment medicine)

अगर आप ल्यूकोरिया की समस्या (White Discharge) से  जल्दी ठीक होना चाहते हैं , तो आपको आयुर्वेदिक दवा (Leukorrhea medicine) लेनी चाहिए। ल्यूकोरिया की समस्या में दो दवा दी जाती हैं। एक Intimate Vaginal Tablets जो रात में सोने से पहले योनि (Vagina)  में रखी जाती है। इसका इस्तेमाल योनि की मांसपेशियों (Vagina muscles) के ढीलेपन को ठीक करने में और ल्यूकोरिया के इलाज में किया जाता है। यह केसर , चन्दन, सुपारी, कस्तूरी दाना , अशोक धाय, बबूल, मायाफल आदि जड़ी बूटियों (Herbs) को मिलाकर बनायी जाती है।

Leukorrhea treatment medicine

और दूसरी दवाई L -CURE (Syrup/Capsule) खाने के लिए दी जाती है। यह मरीज की स्थिति पर निर्भर करता है, कि यह दवाई उसे कैप्सूल के रूप में दी जाए , या सीरप के रूप मे। एल-क्योर (L-Cure Syrup/Capsule) ल्यूकोरिया, मेनोरेजिया, अनियमित मासिक धर्म, अपरिपक्व गर्भपात, यूटेराइटिस और इंट्रा-जेनिटल विकृतियों के उपचार में बहुत प्रभावी है। यह 14 प्रकार की जड़ी-बूटियों से बना है। इसमें अशोक, लोध, नागकेसर, मौचर, सुपारी, पलाशपुष्प, शुभ्रा भस्म, गौदंती भस्म, गिलोय, अश्वगंधा, शिलाजीत, लौह भस्म, मुक्ताशुक्ति शामिल हैं।

योग से करे ल्यूकोरिआ दूर (Exercise for Leucorrhea)

 ल्यूकोरिआ में मेरीज के पैल्विक हिस्से (pelvic region) में खून का प्रवाह कम होने के कारण भी समस्या उत्पन्न हो सकती है। ऐसे में मरीज के लिए योग (Yoga) का प्रयोग करना जरूरी होता है। ल्यूकोरिआ (Leucorrhea) के लिए आप निम्न योगासन का प्रयोग कर सकते हैं –
Leucorrhea Exercise

ल्यूकोरिआ से ग्रषित महिलाओ को क्या नहीं करना चाहिए

अक्सर लोग इलाज तो कराते हैं, और अपने जीवनशैली में परिवर्तन भी लाते हैं, लेकिन फिर भी उन पर दवा का ज्यादा प्रभाव नहीं होता जिसका कारण कुछ गलत आदते हो सकती है। गलत आदतो की वजह से दवा अपना काम अच्छी तरह से नहीं कर पाती है। इसलिए हर मरीज को चाहिए, कि जब तक इलाज चल रहा है तब तक निम्न आदतो को ना करे। हो सके तो इन आदतो को हमेशा के लिए छोड़ दें, ऐसे में बीमारियां दूर रहेंगी। आइये कुछ आदतें जान लेते है, जो ल्यूकोरिआ के मरीजों को नहीं करना चाहिए । 

मुझे उम्मीद हैं ,ल्यूकोरिया की समस्या (white discharge treatment at home) को ठीक करने में यह लेख काफी मददगार रहेगा | यह  जानकारी आपको कितनी मददगार लगी ,और किस विषय पर आप जानकारी चाहते हैं कमैंट्स करके जरूर बताएं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *