गाजर खाने के फायदेगाजर खाने के फायदे

Introduction to गाजर (Carrots)

गाजर (Carrot) एक प्रकार के सब्जी का नाम है। गाजर आमतौर पर नारंगी या लाल रंग के होते है, लेकिन इसके कई अन्य रंग भी हो सकते हैं। इसका प्राकृतिक स्वाद तीखा, मीठा होता है। यह अनेक गुणों से भरपूर होता है, जो इसे एक स्वस्थ आहार का हिस्सा बनाता है। इसलिए आयुर्वेद में इसका प्रयोग एक औषधि के रूप में भी किया जाता है। यह स्वादिष्ट होने के साथ-साथ स्वस्थ जीवन के लिए अनगिनत लाभ भी प्रदान करता हैं।

गाजर की खेती सबसे ज्यादा हरियाणा में होती है, इसके अलावा अन्य राज्य जैसे आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, पंजाब, उत्तर प्रदेश और बिहार भी है। आज इस लेख में, हम जानेंगे की गाजर खाने के क्या क्या फायदे हैं, और यह किन किन बीमारियों को ठीक कर सकता है।

गाजर में पौष्टिक तत्व (Nutrients in carrot)

गाजर एक ऐसा सुपरफूड है जिसमें लगभग वो सभी जरुरी तत्व हैं जो हमें स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। इसमें बीटा-कैरोटीन, डाइटरी फाइबर, पोटैशियम, और विटामिन्स भरपूर मात्रा में पाए जाते है। 

नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ नुट्रिएंट्स (NIN) के द्वारा बताए गए एक कच्चे गाजर के प्रति 100 ग्राम में पाए जाने वाले पोषक तत्वों की मात्रा निम्न है। 

  • उर्जा                               40 किलो कैलोरी
  • कार्बोहाइड्रेट                   9 g
  • शर्करा                            5 g
  • आहारीय रेशा                 3 g 
  • वसा                               0.2 g
  • प्रोटीन                            1 g
  • विटामिन                        1%
  • बीटा-कैरोटीन                 8285 μg (77%)
  • थायमीन (विट. B1)          0.04 mg (3%)
  • राइबोफ्लेविन (विट. B2)   0.05 mg (3%)
  • नायसिन (विट. B3)          1.2 mg (8%)
  • विटामिन B6                   0.1 mg (8%)
  • विटामिन C                     70 mg (117%)
  • कैल्शियम                       33 mg (3%)
  • लोहतत्व                         0.66 mg (5%)
  • मैगनीशियम                    18 mg (5%)
  • फॉस्फोरस                      35 mg (5%)
  • पोटेशियम                       240 mg (5%)
  • सोडियम                         2.4 mg

गाजर का रस (Carrot Juice) and Its Benefits

गाजर का रस (Carrot juice) पीना शरीर के लिए एक बेहद स्वास्थ्यकर आदत हो सकती है। इससे आपकी त्वचा को निखार मिलता है, आंतों को साफ करता है, और वजन नियंत्रण (Weight loss) में मदद करता है।

गाजर के स्वास्थ्य संबंधित लाभ (Health Benefits of Carrots)

गाजर के सेवन से हड्डियों को मजबूती मिलती है, आंतरिक सूजन कम होती है, और रक्तचाप नियंत्रित रहता है। इसके अलावा, यह साइटोक्सिन्स के खिलाफ भी कारगर होता है, जिससे कैंसर का खतरा कम होता है।

गाजर वजन कम करने में भी सहायक साबित हो सकता है, क्योंकि इसमें कैलोरी बहुत ही कम होता है। इसके अलावा इसमें घुलनशील और अघुलनशील दोनों ही प्रकार के फाइबर पाए जाते है। जिससे यह भूख कम करने में मदद करता है। फाइबर के अलावा इसमें प्रोटीन भी पाया जाता है जो आपके शरीर को जरुरी ऊर्जा भी प्रदान करता है। यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो बेझिझक गाजर का इस्तेमाल कर सकते है। वजन कम करने के लिए इसका इस्तेमाल सलाद के रूप में करना ज्यादा लाभदायक होगा।

गाजर से खांसी में मिले आराम (Reduce cough with carrots)

यदि आप खांसी से हैं परेशान, तो ऐसे में गाजर हो सकता है अचूक इलाज। इसके लिए गाजर के 50 मिली रस में काली मिर्च (black pepper) के चूर्ण और गुड़ (Jaggery) मिलाकर इसका सेवन करें। ऐसा करने से आपको जल्द कफ सम्बन्धी समस्याओं से आराम मिलेगा। गाजर में एंटी ऑक्सिडेंट गुण पाए जाते है जो कफ, सर्दी, और फ्लू जैसे विकारो को दूर कर सकते हैं। इसकी तासीर ठंडी होने के बाद भी ठण्ड के समय इसका सेवन करना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक साबित होता है।

गाजर खाने से ह्रदय होगा स्वस्थ (keep your heart healthy)

हृदय (heart), शरीर के सबसे जरुरी अंगों में से एक है, जो हमारे जीवन को आगे बढाने में एक अहम भूमिका निभाता है। यह अपने सभी संबंधित अंगों के स्वास्थ्य के लिए रेगुलर काम करता है। इसलिए इसके स्वास्थ्य का ध्यान रखना बहुत जरुरी है। यदि गाजर का सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए, तो यह ह्रदय स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक साबित हो सकता है। इसके लिए सबसे पहले चार बड़े गाजर को भाप की मदद से अच्छे से पकाए। फिर गुलाब अर्क या केवड़ा और मिश्री मिलाकर खाए। इसके जगह आप गाजर के हल्वे का भी सेवन कर सकते है।

गाजर की मदद से एनिमिया होगा ठीक (Anemia will be cured with the help of carrots)

शरीर में आयरन की कमी होने पर रेड ब्लड सेल्स (Red blood sales) की जरुरी मात्रा नहीं बन पाती है। जिससे एनीमिया (Anemia) होने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में कद्दूकस किये हुए गाजर को दूध में उबालकर सेवन करने से खून की कमी पूरा होता है। विटामिन ए और आयरन से भरपूर गाजर के रस का सेवन करने से शरीर में हीमोग्लोबिन (hemoglobin) की मात्रा बढ़ती है और एनीमिया को दूर करने में सहायक साबित होता है।

गाजर देगा अपच से छुटकारा (get rid of indigestion)

अपच एक आम स्वास्थ्य समस्या है जिसमे आहार को सही ढंग से पचाने में कठिनाई होती है। यह समस्या अक्सर खाद्य पदार्थों को ठीक से अब्सॉर्ब नहीं कर पाने के कारण होती है। आज के समय व्यस्त जीवन और व्यायाम में कमी के कारण पेट फूलने और पाचन से जुडी समस्या तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में गाजर आपके इस समस्या को जड़ से ख़त्म कर सकता है। इसके लिए एक गिलास गाजर के जूस में काली मिर्च का चूर्ण और स्वाद अनुसार सेंधा नमक मिलाकर खाए। यदि आप चाहे तो नींबू (Lemon) का भी प्रयोग कर सकते है। इसमें फाइबर भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है जो आपके अच्छे पाचन के लिए लाभदायक साबित हो सकता है। 

गाजर करे कमजोरी दूर ( Carrots remove weakness)

अगर लंबे बीमारी के कारण या पौष्टिकता की कमी के वजह से कमजोरी महसूस हो रही हो तो गाजर का बताए गए तरीके से सेवन करने पर लाभ मिल सकता है। सबसे पहले गाजर को अच्छे से धुलकर छोटे – छोटे टुकड़े में काट ले। अब एक बर्तन में साफ़ पानी निकालकर प्रति 100 ग्राम में एक चम्मच शहद मिला दे। इसके बाद शहद मिले पानी में गाजर के सभी टुकड़ो को डालकर उबाल ले। जब गाजर नरम हो जाए तो उसे निकालकर धुप में अच्छे से सूखा ले। अब इसे शहद के चासनी में डुबोकर निकाल ले। अब यह मुरब्बा बनाने का लास्ट स्टेप है, जिसमे हम आपको एक किलो गाजर के हिसाब से लगने वाली सामग्री बताते है।

एक किलो गाजर में 2 ग्राम दालचीनी, सोंठ, इलायची, केशर, कस्तूरी, और जायफल मिला दें। अब 5 से 6 हफ्ते के बाद इस मुरब्बे का सेवन कर सकते है। ध्यान दे रोजाना 20 से 40 ग्राम तक के मुरब्बे का ही सेवन करें। 

गाजर है डायबिटीज के लिए लाभदायक (Carrot is beneficial for diabetes)

गाजर मीठा होने के बाद भी डायबिटीज (Diabetes) से ग्रषित व्यक्ति इसका सेवन कर सकता है, क्योंकि यह आपके रक्त शर्करा स्तर (Blood Sugar Level) को कण्ट्रोल करने में मदद कर सकता है। इसमें करीब 6 ग्राम कार्ब(Carb) होता है। एक स्वस्थ व्यक्ति एक दिन में 3 से 4 गाजर खा सकता है लेकिन डायबिटीज के मरीज को एक दिन में ज्यादा से ज्यादा 2 गाजर का ही सेवन करना चाहिए। यदि रोज सेवन करना हो तो एक गाजर पर्याप्त होगा।

गाजर करे कैंसर से बचाव

कैंसर (Cancer), एक गंभीर रोग है जो शरीर के अलग-अलग हिस्सों में बिना कीसी निश्चित रूप से बढ़ते हुए कोशिकाओं (tissues) के असमान्य ग्रोथ(Growth) के कारण होता है। यह रोग शरीर की सेल्स (Cells) में बदलाव करता है और सभी सेल्स को ख़त्म करने लगता है। इसलिए इससे जल्द से जल्द बचाव के उपाय करना जरुरी है। गाजर में मौजूद बीटा-कैरोटीन शुरुआती कैंसर के खिलाफ रक्षा करने में मदद कर सकता है, खासकर मुँह के कैंसर के खिलाफ। गाजर विटामिन ए, सी, और बी6 जैसे तत्वों से भरपूर होता है। इसका सेवन करने से ब्रेस्ट कैंसर, लंग्स कैंसर, और कोलन कैंसर के खिलाफ बचाव हो सकता है।

गाजर देगा गठिया के दर्द से आराम (Carrot will give relief from arthritis pain)

यह बीमारी अधिकतर बड़े बुजुर्गो को ठण्ड के समय ज्यादा तकलीफ देती है। गाजर का सेवन गठिया के दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। साथ ही जोडों के दर्द और सूजन को कम करने के लिए भी इसका सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है। इसे बनाने के लिए गाजर, चुकंदर और पुदीने की पत्तियों को मिक्सर में डाल दें। अब इसमें पानी, नींबू का रस, और काला नमक डालकर जूस तैयार कर लें। अब आप इसका सेवन कर सकते है। 

गाजर से पाए प्रतिरक्षा शक्ति मे सुधार (Improves immunity from carrots)

प्रतिरक्षा शक्ति, हमारे शरीर को बीमारियों और संक्रमण से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है, जोकि हमारे स्वास्थ्य के लिए जरुरी है। इसका काम हमारे शरीर के सभी तंतु(filaments), जीवाणु (bacteria), और अन्य कीटाणुओं के खिलाफ सुरक्षित रखना है। यदि हमारी प्रतिरक्षा शक्ति मजबूत है, तो हम स्वस्थ जीवन जी सकते हैं। गाजर में मौजूद विटामिन सी आपके शरीर को एंटीबॉडी बनाने में मदद कर सकता है जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली की रक्षा करेगा। इसमें पाए जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट्स भी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ा सकते हैं और संक्रमणों से बचाव कर सकते हैं। 

उच्च रक्तचाप एक आम स्वास्थ्य समस्या है जो शरीर की रक्त दबाव के बढ़ने के बारे में बताता है। यह स्थिति अगर नियंत्रित न रहे, तो यह दिल, किड़नी, और अन्य अंगों को हानि पहुंचा सकती है और गंभीर रोगों का कारण बन सकती है। इसलिए इसे कण्ट्रोल करना जरुरी है। गाजर में मौजूद पोटैशियम हाइपरटेंशन को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है और रक्तचाप को संतुलित बनाए रख सकता है। यह फेनोलिक कंपाउंड से भरपूर होता है जिसके कारण यह सूजन कम कर ब्लड वेसल्स को आराम देता है, जोकि उच्च रक्तचाप की समस्या के इलाज का कारण बन सकता है। उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए कच्चे गाजर का सेवन करना ज्यादा सही होगा। 

गाजर है आंखों के लिए फायदेमंद

आंख, हमारे शरीर का एक जरुरी अंग है, जो हमें बाहरी दुनिया को देखने की क्षमता प्रदान करता है। यह बहुत ही संवेदनशील होता है और हमारे दिनचर्या में अनेक प्रकार से मदद करता है। लेकिन कैटैरैक्ट, ग्लौकोमा, मैक्यूलर डिजीनरेशन, और कन्जेक्टिवाइटिस जैसी समस्या आखो के लिए हानिकारक साबित हो सकती है। ऐसे में गाजर आंखों के लिए वरदान साबित हो सकता है। इसमें बीटा-कैरोटीन होता है, जो अधिक उम्र में आंखों को होने वाली दिक्कतों से कुछ हद तक बचाव कर सकता है।

गाजर है पीरियड्स में लाभदायक (Carrot is beneficial during periods)

पीरियड्स, जिन्हें हम मासिक धर्म भी कहते हैं, महिलाओं के जीवन का एक प्राकृतिक प्रक्रिया है जो महिने में एक बार होती है। इस समय, महिलाओं के शरीर से गर्भनाशक (Contraceptive) फाइबर और रक्त को बहार निकलते है, जिससे उनके गर्भाशय की सफाई होती है। इस प्रक्रिया के दौरान, शरीर में होने वाले हार्मोनल परिवर्तन के कारण अलग-अलग समस्याए हो सकती है। इस दौरान पेट में दर्द, पैरों में दर्द, स्वभाव में चिड़चिड़ापन और अनियमित स्त्राव की शिकायत रहती है। यदि आपको यह समस्या है तो ऐसे में गाजर का जूस आपके लिए लाभदायक साबित हो सकता है।

गाजर के स्वाद से भरपूर व्यंजन (Interesting Carrot Recipes)

गाजर से तैयार होने वाले पदार्थ स्वाद में बहुत ही अच्छे होते है। इसका इस्तेमाल कर हम अनेक प्रकार के स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ तैयार कर सकते है। यहाँ गाजर से बनी कुछ रेसिपीज निम्न है। 

  • गाजर का हल्वे :- गाजर का हल्वे  एक स्वादिष्ट और पौष्टिक भोजन है जो हर किसी को पसंद है। इसे बनाने के लिए, गाजर को कद्दूकस करें और फिर उन्हें घी में पकाएं। जब गाजर सॉफ्ट हो जाएं, तो उसमे दूध और चीनी मिलाएं और हल्वा बनाएं। इसे काजू और बादाम से सजाकर सर्व करें।
  • गाजर का सलाद:- गाजर का प्रयोग करने से सलाद में पोषक और स्वाद दोनों ही बढ़ जाते है। इसमें हरी पत्तियां, टमाटर, प्याज, और नींबू का रस मिलाया जा सकता है, जिससे इसका स्वाद और भी अच्छा हो सकता है।
  • गाजर का रायता:- गाजर का रायता एक स्वादिष्ट और हेल्दी ऑप्शन है। गाजर को कद्दूकस करें और उसे दही में मिलाएं। इसमें नमक, काली मिर्च, और थोडा सा जीरा मिलाकर रायता बना सकते हैं।
  • गाजर का जूस:- गाजर का जूस आपको न केवल तरोताजा(fresh) रखता है, बल्कि इससे त्वचा भी चमकदार बनती है। गाजर को कद्दूकस करें और फिर उसमें ठंडा पानी मिलाएं। इसे अच्छे से छानकर पीने से शरीर को पौष्टिक लाभ होता है।

इस प्रकार, गाजर का सेवन करने से हम न केवल अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रख सकते हैं, बल्कि इसे अलग-अलग रूपों में तैयार करके हम अपने खाने को और भी स्वादिष्ट और पौष्टिक बना सकते हैं।

गाजर का सेवन करने का सही समय (Right time to eat a carrot)

गाजर का सेवन करने का सही समय दिन के अंत में हो सकता है, ऐसा करने से आपका पाचन तंत्र (digestive system) पहले से बेहतर काम करेगा। सुबह के समय भी गाजर का रस पीना आपको ऊर्जा दे सकता है, साथ ही दिनभर की थकान को भी कम कर सकता है। यदि आप इसे हल्वे के रूप में लेते है तो भोजन के बाद डिजर्ट के रूप में लेना ज्यादा लाभदायक और पाचन के लिए लाभदायक होगा। 

स्वास्थ्य सुरक्षा के उपाय (health safety measures)

गाजर खाने के बाद भी, कुछ स्वास्थ्य सुरक्षा के उपायों का ध्यान रखना जरुरी है। 

  1. स्वच्छता का ध्यान रखें : गाजर का उपयोग करने से पहले उसे अच्छे से धो ले ताकि किसी भी प्रकार के कीटाणु से जुडी समस्याएं न हों।
  1. अधिक मात्रा में न खाएं : गाजर का सेवन हमारे सेहत के लिए हमेशा अच्छा होता है, लेकिन अधिक मात्रा में खाने पर नुकसान कर सकता है। इसलिए सावधानी बरतें। क्युकी यदि स्वस्थ व्यंजन भी गलत तरीके या जरुरत से ज्यादा लिया जाए तो वह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।
  2. ऑर्गेनिक खेती का चयन करें : ऑर्गेनिक खेती से उत्पन्न गाजर का सेवन करने से आप चिंता मुक्त हो सकते हैं क्युकी आप अपने शरीर को किसी भी हानिकारक पदार्थ या पेस्टिसाइड से बचा रहें।

Conclusion

गाजर खाने के फायदे अब आपके सामने हैं। इस सुपरफूड का नियमित सेवन करके आप अपने स्वास्थ्य को सुरक्षित रख सकते हैं, और एक स्वस्थ और संतुलित जीवन जी सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *